निर्णय लें, लेकिन संभल कर ! Inspiring Moral Story In Hindi

Inspiring Moral Story About Life Decisions In Hindi

(Inspiring Moral Story) :- आज ऑफिस में सुबह के समय बहुत खुशी का माहौल था। सभी लोग रंग बिरंगे गुब्बारों, फूलों और तरह तरह की खूबसूरत चीजों से पूरे ऑफिस को सजाने में लगे हुए थे।

दिल्ली के इस ऑफिस के एक अनुभवी बॉस का आज जन्मदिन था। सभी अपने बॉस के आने और उनके स्वागत की तैयारी में लगे हुए थे।

inspiring moral story hindi
Inspiring Moral Story

निशांत, जिसने एक महीने पहले ही ऑफिस ज्वाइन किया था, वह फूलों को ऑफिस के दरवाजे पर लगा रहा था। उसके पास में ही खड़ा रोहित, जो पिछले तीन महीने से ऑफिस में कार्य कर रहा था, वह दरवाजे को गुब्बारों से सजा रहा था।

आखिर सुबह के 10 बजे और जैसे ही बॉस ऑफिस पहुंचे तो सभी ने उन्हें उनके 51 वें जन्मदिन की बधाइयाँ दीं।

अपने कर्मचारियों द्वारा किये गए स्वागत से बॉस बहुत प्रसन्न हुए और उन्होंने इस खुशी को बढ़ाने के लिए अपने कर्मचारियों से कहा, “क्यों न हम सभी शाम को एक पार्टी रखें जो मेरे घर पर होगी। इस बहाने हम लोग ऑफिस की बिजी लाइफ से दूर एक साथ मिलकर अलग और अच्छा अनुभव ले सकेंगे।”

फिर क्या था, सभी ने हाँ कह दिया। ऑफिस में काम शुरू हो गया। सभी लोग जल्दी जल्दी कार्य करने लगे ताकि शाम को बॉस के घर बिना किसी पेंडिंग कार्य के पहुंच सकें।

इधर रोहित और निशांत का मन काम में नहीं लग रहा था। तभी रोहित के दिमाग में आया कि क्यों न अभी जाकर सर के पसंद की एक महंगी शर्ट लायी जाये और ऑफिस टाइम में ही सर को दी जाये।

इतना सोचते ही वह मार्केट गया और अपने बॉस के मनपसंद ब्रांड की शर्ट ले आया और ऑफिस आकर सीधे बॉस के केबिन में गया और बोला, “सर, मैं आपके लिए यह शर्ट लाया हूँ। आपके मनपसंद ब्रांड की है। सर, मैं चाहता हूँ कि आप इसे शाम को पार्टी में पहनें।” बॉस बहुत सुलझे हुए और अच्छे आदत के थे। उन्होंने वह शर्ट यह कहकर रख ली कि इसे शाम को पहन लुंगा।

इधर प्रशांत यह सब देख रहा था। उसके दिमाग में भी बॉस को इम्प्रेस करने के लिए एक विचार आया। वह तुरंत मार्केट गया और एक अच्छे ब्रांड की एक बहुत महंगी जैकेट ले आया और बॉस के केबिन में जाकर बोला, “सर, मैं आपके लिए यह जैकेट लाया हूँ। मेरी इच्छा है कि आप इसे शाम को पार्टी में पहनें।” बॉस ने वह जैकेट भी रख ली।

अब रोहित को भरोसा था कि बॉस मेरे द्वारा लायी हुई शर्ट पहनेंगे क्योंकि मैंने उनके पसंद के ब्रांड की शर्ट दी है और प्रशांत से पहले दी है। इधर प्रशांत को भी भरोसा था कि बॉस उसके द्वारा लायी हुई जैकेट पहनेंगे क्योंकि ज्यादा आकर्षक और महंगी है।

शाम का समय हुआ। सभी लोग बॉस के यहाँ पार्टी मनाने पहुंचे। रोहित और प्रशांत भी वहां मौजूद थे। तभी बॉस पार्टी में तैयार होकर आये।

लेकिन यह क्या? रोहित और प्रशांत को बिजली का झटका सा लगा। बॉस न तो रोहित की दी शर्ट पहन कर आये और न ही प्रशांत की दी हुई जैकेट पहन कर आये।

दोनों ने बॉस से इसका कारण पूछना चाहा लेकिन बॉस को मेहमानों के बीच घिरे होने के कारण उस समय नहीं पूछ पाए। लेकिन जब पार्टी समाप्त होने को थी और ज्यादातर लोग अपने घर चले गए तब दोनों बॉस के पास पहुंचे।

रोहित बोला, “क्या बात सर! आपने मेरे द्वारा दी गयी शर्ट नहीं पहनी?”

इस पर बॉस हँसे और बोले, “अब क्या बताऊँ! सबसे पहले तो मैंने तुम्हारे द्वारा दी गयी शर्ट ही पहनी थी लेकिन वह मेरे साइज से बड़ी निकली।”

इतने पर प्रशांत को न रुका गया और बोला, “तो सर आप मेरे द्वारा दी गयी जैकेट पहन लेते, मेरी बहुत इच्छा थी कि आप वह पहने।”

बॉस फिर हँसे और बोले, “शर्ट के बाद मैंने तुम्हारे द्वारा दी गयी जैकेट ही पहनी थी लेकिन करूँ मैं उसे पहन ही नहीं पाया।”

बॉस की इस बात पर रोहित और प्रशांत दोनों चौंकते हुए एक साथ बोले, “पहन क्यों नहीं पाए सर?”

तभी बॉस हंसकर बोले, “क्योंकि वह जैकेट मेरे नाप से छोटी थी। मुझे लगता है आप दोनों बहुत जल्दबाजी में यह लेकर आये थे!”

रोहित और प्रशांत दोनों को अपनी गलती का एहसास हो गया। उनके जल्दबाजी में लिए गए निर्णय की बजह से ऐसा हुआ था। दोनों ने बॉस से माफ़ी मांगी तथा कल शर्ट और जैकेट बदलकर सही साइज का लाने का वादा किया और घर लौट गए।

Best Moral Of This Inspiring Story

दोस्तों, इस प्रेरक कहानी (Motivational Story) से हमें जीवन की बहुत बड़ी शिक्षा (Life Lesson) मिलती है। हमें जीवन में बहुत से निर्णय (Life Decisions) लेने होते हैं।

यह जीवन हमारे द्वारा लिए गए निर्णयों का ही परिणाम है। जो Decisions हमने अतीत (Past) में लिए थे और परिणाम हमारी आज की लाइफ (Present Life) है और आज जो हम निर्णय (Decisions) लेंगे, उसी से हमारा भविष्य बनेगा।

हम में से अधिकतर लोग जीवन के महत्वपूर्ण निर्णयों (Important Decisions Of Life) को बहुत जल्दबाजी में ले लेते हैं। उस समय हमें लगता है कि हमारे द्वारा लिए गए निर्णय सही (Right Decisions) हैं लेकिन बाद में काफी समय बाद पता चलता है कि वह निर्णय गलत (Wrong Decisions) लिए गए थे लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी होती है।

जिस तरह रोहित और प्रशांत ने जल्दबाजी में अपने बॉस को शर्ट और जैकेट देने का निर्णय लिया। उस पर काफी पैसा भी खर्च किया लेकिन एक चीज खर्च न करने के कारण वह गलत निर्णय ले गए और वह चीज थी- समय (Time)

यदि दोनों कुछ देर सोच विचार करते कि जो शर्ट और जैकेट हम ले रहे हैं, वह किस साइज की देनी है तो वह सही शर्ट और जैकेट अपने बॉस को दे पाते।

आजकल के युवा (Youth) बहुत जल्दबाजी में अपने जीवन के महत्वपूर्ण निर्णय (Hasty decision) ले लेते हैं जिसका खामियाजा उन्हें बाद में भुगतना पड़ता है।

करियर (Career) के बारे में, जीवन साथी (Life Partner) के बारे में, नौकरी (job) या बिजनेस के बारे में, पैसों (Money) के बारे में, निवेश (Investment) के बारे में, रिलेशनशिप के बारे में बहुत से ऐसे निर्णय होते हैं जिन्हें सोच समझ कर लेना चाहिए। लेकिन जल्दबाजी के कारण सारा खेल बिगड़ जाता है।

आइये! आज से एक निर्णय लें की जीवन में हम जो भी निर्णय लेंगे वह खूब सोच समझकर, एनालाइसिस करके और अनुभवी लोगों से पूछकर ही लेंगे। चाहें कुछ समय ले लो लेकिन लिया गया निर्णय सही हो तो लाइफ (Right Decision In Life) बन जाती है।

————-*******———— 

दोस्तों! यह Best Inspiring Moral Story आपको कैसी लगी? यदि यह Hindi Story on “Take Right Decision In Life” आपको अच्छी लगी तो आप इस हिंदी कहानी को Share कर सकते हैं।

इसके अतिरिक्त आप अपना Comment दे सकते हैं और हमें E.Mail भी कर सकते हैं।

यदि आपके पास Hindi में कोई Article, Inspiring story, Life Tips, Inspiring Poem, Hindi Quotes, Money Tips या कोई और जानकारी है और यदि आप वह हमारे साथ Share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ हमें E-mail करें। हमारी E.Mail Id है– [email protected] यदि आपकी Post हमें पसंद आती है तो हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ अपने ब्लॉग पर Publish करेंगे। Thanks!

3 thoughts on “निर्णय लें, लेकिन संभल कर ! Inspiring Moral Story In Hindi”

Leave a Comment