रियल मोटिवेशन कहाँ से मिलेगी? Motivation for Goals

Motivation for Goals from Work : ज्यादातर लोग मानते हैं कि उन्हें कार्य करने के लिए प्रेरणा (Motivation for work) की जरुरत होती है। ऐसे लोगो का मानना है कि जब तक उन्हें कार्य करने की बाहरी प्रेरणा (External motivation for work) नहीं मिलती तब तक वह उस कार्य को नहीं कर पाते।

दुनिया में अधिकतर लोग अपना कोई भी कार्य या लक्ष्य (Work or Goal) को शुरू या पूरा करने के लिए सबसे पहले कहीं से मोटिवेशन लेते हैं।

motivation for goals in life
Motivation for Goals

लोगों का मानना है कि जीवन में लक्ष्य प्राप्त करने के लिए प्रेरणा (Motivation for goals in life) बहुत जरुरी है। इसके लिए वह Motivational Quotes पढ़ते हैं, Inspirational Blogs पढ़ते हैं या कोई Self Help Books पढ़ते हैं। इन सोर्सेस से प्रेरणा लेकर लोग कार्य करते हैं।

ऐसे लोगों के साथ समस्या यह आती है कि जब तक ली गई प्रेरणा का असर उनके माइंड पर रहता है तब तक तो वह अपने कार्य को बहुत अच्छी तरह से करते हैं लेकिन जैसे ही प्रेरणा कम होती है तो उनके बहुत से कार्य पेंडिंग में रह जाते हैं या बहुत से कार्य अधूरे रह जाते हैं।

अब उन्हें फिर से किसी बाहर के सोर्स से प्रेरणा (External source of motivation) लेने की जरुरत होती है।

ऐसे में समय बहुत ज्यादा खर्च होता है। क्योंकि सबसे पहले तो खुद को मोटीवेट करने के लिए समय लगाना पड़ता है फिर उसके बाद कार्य करने के लिए भी समय की जरुरत होती है।

अब मेरी इस सभी बातों से आपकी समझ में यह आ गया होगा कि हममें से अधिकतर लोग कार्य करने के लिए प्रेरणा (Motivation for work) को जरुरी समझते हैं जिसकी एक सीमा है और ऐसा करने में समय भी अधिक लगता है।

कभी कभी तो ऐसा भी होता है हमें अपने कार्य या लक्ष्य को शुरू या पूरा करने के लिए बाहर से प्रेरणा (Motivation for goals) ही नहीं मिल पाती और हम कभी अपने लक्ष्य के लिए शुरुआत ही नहीं कर पाते और मन में बसे सपने मन में ही दबे रह जाते हैं।

बाहर से प्रेरणा न मिलने के कारण हम अपने सपनों को भविष्य में करने के लिए छोड़ देते हैं, ऐसे भविष्य जो कभी आता ही नहीं।

तो अब आपको हम ज्यादातर लोगों की समस्या समझ आ गई होगी जिसकी वजह से हममें से अधिकतर लोग न तो अपना कोई बड़ा सपना पूरा कर पाते हैं और न ही जीवन में सफलता (Success in Life) का स्वाद चख पाते हैं।

तो क्या इस समस्या का कोई समाधान है? क्या हम अपने कार्यों या लक्ष्यों को बिना बाहरी प्रेरणा के शुरू या पूरा कर सकते हैं?

इसका बहुत ही क्लियर उत्तर है- हाँ!!! ऐसा संभव है! लेकिन कैसे?

देखिये यदि आप हमारे ब्लॉग के रेगुलर रीडर हैं तो आप इस बात तो जरूर जानते होंगे कि प्रत्येक समस्या का कम से कम एक समाधान तो होता ही है। तो निश्चित ही इस समस्या का भी समाधान होगा। अरे! समाधान होगा क्या, समाधान है। आइये मैं आपको बताता हूँ।

हम लोग “कार्य के लिए प्रेरणा” (Motivation for work) खोजते हैं जो कि गलत तरीका है। असल में हमें “कार्य से प्रेरणा” (Motivation from work) खोजनी चाहिए।

इससे समस्या दूर भी होगी और जीवन में हम अपने लक्ष्यों को भी आसानी से प्राप्त कर पाएंगे।

आइये इस कांसेप्ट को क्लियर करके आपको समझाने की कोशिश करता हूँ।

Take Inner Motivation from Work 

हम में से अधिकतर लोग अपना कार्य तभी शुरू या पूरा कर पाते हैं जब हमें उस कार्य को करने की बाहर कहीं से प्रेरणा मिलती है।

यह तरीका गलत है क्योकि यह तभी तक कार्य करता है जब तक हमें बाहर से प्रेरणा मिलती रहती है। जब भी बाहर से मिलने वाली प्रेरणा बंद तो कार्य भी बंद होकर अधूरा रह जाता है।

अब यदि हम कार्य के लिए बाहरी प्रेरणा न लेकर अपने कार्य की शुरुआत करके यदि अपने कार्य से ही प्रेरणा (Motivation from work) लेने लगते हैं तो हमें प्रेरणा कही बाहर से लेने की जरुरत नहीं पड़ती बल्कि यह प्रेरणा हमें अपने किये कार्य से ही प्राप्त होती रहती है।

इसको हम इस चित्र से आसानी से समझ सकते हैं-

motivation for goals hindi
motivation from Work

अब आप सोच रहे होंगे कि यह बात तो समझ आती है कि आज के कार्य से प्रेरणा (Motivation for Daily actions) लेकर हम कल का कार्य कर सकते हैं और कल के कार्य से हम परसो के कार्य की प्रेरणा प्राप्त करेंगे।

ऐसे ही कार्य होता जायेगा और प्रेरणा भी मिलती जाएगी। लेकिन जब पहले हमें कार्य शुरू करने के लिए भी बाहर से प्रेरणा लेनी पड़ती थी तो अब बिना प्रेरणा के आप कार्य की शुरुआत कैसे करेंगे?

तो दोस्तों! इसका सबसे अच्छा उत्तर है- आपकी इच्छाशक्ति (Will Power)

आइये आपको पूरा प्रोसेस बताता हूँ कि आपको करना क्या है। देखिये हम जब भी कोई कार्य करना चाहते हैं तो वह हमें बहुत बड़ा और बोरिंग लगता है जिसकी वजह से वह कार्य हम शुरू भी नहीं कर पाते।

Motivation for Goals from Work : Important Steps

इसके लिए आपको इन स्टेप्स को फॉलो करना चाहिए–

1- सबसे पहले आपको अपना लक्ष्य (Target) या कार्य चुनना है जिसे आप करना चाहते हैं। इसे एक कागज या डिजिटल डायरी में नोट कर लीजिये।

2- अब आपको इस कार्य या लक्ष्य को बहुत छोटे छोटे पार्ट में विभाजित करके जगह नोट कर लेना है। ध्यान रहे अपने कार्य को इतने छोटे छोटे पार्ट में ब्रेक करना है कि आपको एक पार्ट को पूरा करना आसान लगने लगे। 

3- अब आपको अपने कार्य का एक छोटा पार्ट एक दिन में एक ही पूरा करना है। जब कार्य का एक पार्ट बहुत छोटा होगा तो आप उसे एक दिन में बहुत आसानी से पूरा कर पाएंगे।

4- आप कार्य का छोटा पार्ट आसानी से कर लेंगे। लेकिन यदि आपको उसको करने में भी समस्या आ रही है तो पहले दिन आपको अपनी इच्छा शक्ति का प्रयोग करके उसे पूरा कर लेना चाहिए।

5- जैसे ही पहले दिन का कार्य (छोटा पार्ट) पूरा होगा तो निश्चित ही आपके अंदर एक कॉन्फिडेंस आएगा। आपका यही कॉन्फिडेंस आपको अगले दिन के कार्य के लिए प्रेरित करेगा। अब आपको अपने द्वारा किये गए कार्य से ही प्रेरणा मिलनी (Motivation from small actions) शुरू हो जाएगी।

6- अब अगले दिन आपको Will Power की भी जरुरत नहीं होगी। पिछले दिन के कार्य से मिली प्रेरणा ही अगले दिन का कार्य पूरा करवा देगी।

7- इस तरह आपका प्रत्येक दिन का कार्य आपके आत्मविश्वास को बढ़ाता जायेगा और इसी बढ़ते आत्मविश्वास से आपकी रोज कार्य करने ले लिए प्रेरणा भी बढ़ती जाएगी। अब आपको आपके द्वारा किये कार्य से ही प्रेरणा मिलती रहेगी और बाहरी प्रेरणा की आपको जरुरत नहीं रहेगी।

अब आप बड़े से बड़े कार्य को पूरा करने या बड़े से बड़े लक्ष्य को पाने के लिए तैयार हैं। ध्यान रखिये “छोटे छोटे कार्य से प्रेरणा प्राप्त करना” (Motivation from small goals) यह कांसेप्ट कई रिसर्च पर आधारित है-

पहला यह कि हमारा माइंड किसी भी बड़े कार्य या लक्ष्य (Big Goals) को पूरा करने को मना कर देता है लेकिन जब हम उसी कार्य को बहुत छोटे छोटे पार्ट में ब्रेक कर लेते हैं तो एक छोटे पार्ट को एक दिन में करने को वह राजी हो जाता है।

दूसरा यह कि प्रत्येक इंसान के अंदर एक Limited WillPower होती है। किसी के अंदर कम तो किसी के अंदर ज्यादा होती है। यदि कार्य की शुरुआत करने के लिए माइंड तैयार नहीं है तो हमें अपनी Will power का उपयोग करके उसे शुरू कर देना चाहिए। बाकि आगे का काम आपके कार्य से मिलने वाली प्रेरणा कर देगी।

तीसरा यह कि जब भी हम कोई कार्य सफलतापूर्वक कर लेते हैं चाहें वह बहुत छोटा ही क्यों न हो तब हमारे अंदर Naturally एक Confidence आता है और इसी कॉन्फिडेंस से आगे कार्य करने की हमें Motvation मिलता है।

अतः आप अपनी बड़ी सोच के साथ छोटे छोटे कार्य (Think big with Small actions) करते हुए जीवन में अपने सपनों को पूरा कर सकते हैं।

छोटे छोटे कदम उठाकर आप बड़ी सफलता (Take small steps to make a Big success) प्राप्त कर सकते हैं।

यह समझ लीजिये कि छोटे छोटे कदम से मोटिवेशन लेकर आप अपनी जिंदगी बदल (Take small steps to Change your Life) सकते हैं।

यही हम सबके लिए सफलता की कुंजी है। (This is the key to success of Life)

यह क्लियर है कि असली मोटिवेशन तो आपको अपने कार्य से ही प्राप्त करनी होगी, कहीं बाहर से नहीं।

मुझे विश्वास है कि अब आप अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए तैयार हो चुके है। आओ यही समय है कि हम अपने सभी सपनों को सच कर सकते हैं।

यदि आप इस कांसेप्ट और अधिक अच्छे से समझना चाहते हैं तो मेरा सुझाव है कि आपको “1% फार्मूला” बुक को जरूर पढ़ना चाहिए।

इस प्रेरणादायक किताब को टॉम कॉनेलन ने लिखा है। इस बेहतरीन किताब का प्राइस आप यहाँ से देख सकते हैं–

1% Formula Book

————-*******————

दोस्तों! यह Motivation for Goals or work with small actions in Hindi आपको कैसा लगा? यदि यह “Motivation for Goals from work can change your Life” से रिलेटेड आर्टिकल आपको अच्छा लगा तो आप इस Hindi Article को Share कर सकते हैं।

इसके अतिरिक्त आप अपना Comment दे सकते हैं और हमें E.Mail भी कर सकते हैं।

यदि आपके पास Hindi में कोई Article, Inspiring story, Life Tips, Inspiring Poem, Hindi Quotes, Money Tips या कोई और जानकारी है और यदि आप वह हमारे साथ Share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ हमें E-mail करें।

हमारी E.Mail Id है– [email protected] यदि आपकी Post हमें पसंद आती है तो हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ अपने ब्लॉग पर Publish करेंगे। Thanks !

3 thoughts on “रियल मोटिवेशन कहाँ से मिलेगी? Motivation for Goals”

  1. Bahut aachi or sahi janakari aapne di hai…
    motivation humare under se hona chahiye…coz jab hum dil se koi kaam karenge to hume safalta jaruri milegi or sath me apne aapko sukoon bhi milega….

    thank to u for sharing very useful articles

    Reply

Leave a Comment